Sunday 31 March 2013

एक दोहा

जिनको बेमानी लगे, उसकी-मेरी प्रीत ।  
ऐसे लोगों के लिए, कैसे लिक्खूँ गीत ।।

Friday 29 March 2013

एक कुण्‍डली

जीवन में खिलते रहें सुन्‍दर सुन्‍दर फूल ।
उन्‍नति पथ से दूर हों कंटक और बबूल ।
कंटक और बबूल, रास्‍ते सुगम बनें सब
आ न सके जीवन में संकट कोइ नया अब
आशाओं के पुष्‍प पल्‍लवित हों आंगन में
खुलें नए सोपान सफलता के जीवन में ।।


Wednesday 27 March 2013

HAPPY HOLI

जीवन में हर पले सजे, रंग अबीर गुलाल ।
खुशियों की बौछार हो, हर दिन पूरे साल ।
हर दिन पूरे साल, रहे अव्‍वल पिचकारी ..
स्वदस्थ  रहे परिवार, न  हो  कोई  बीमारी ।
यही दुआ है आज..., उदासी रहे न मन में
हर पग हो विस्तार, सफलता का जीवन में ।।

Wednesday 20 March 2013

एक दोहा

बिना किसी भय लुट रही, अबलाओं की लाज ।    
धन्य धन्य है आपका, यह  भयमुक्त समाज ।।

Tuesday 19 March 2013

एक दोहा

सपने तो सपने रहे, सपनो का क्या दोष ।
अपने भी सपने हुए, बस इतना अफसोस ।।

Thursday 14 March 2013

एक दोहा....

अधरों से जब दूर हों, कैसे आए चैन ।   
मदिरा के प्याले भरे, मीत तुम्हारे नैन ।।

Saturday 9 March 2013

एक मुक्‍तक

भूल जाएंगे..लग रहा हैं हमे  ।।
दिल दुखाएंगे लग रहा है हमे ।।
और कब तक हम इंतजार करें
वो न आएंगे लग रहा है हमें ।।

एक मुक्‍तक

आपके आस पास रहना  है ।
और हमको उदास रहना है  ।
तुम न देखोगे इक नज़र हमको
लेके आंखों में प्‍यास रहना है ।।

Friday 8 March 2013

एक दोहा

मादक नयनों से तेरे, चख ली थी इक बार ।  
उम्र हुई पर आज तक, उतरा नहीं खुमार ।।

Saturday 2 March 2013

एक दोहा

पोथी  पर  पोथी  पढी, रोज  गए  इस्‍कूल ।
प्रेम पहाड़ा जब पढा, गए सभी कुछ भूल ।।