Friday, 17 February, 2012

वसंत

वसंत के इस मौसम में कभी गर्व से मुस्‍कुराते आम के पेड़ को देखिए, मंजरी से लदे महक रहे हैं---
        
                                         अमराई में घुल रही, मधुमय मादक गंध ।
                                       भंवरों को भाने लगा, यौवन का मकरन्‍द ।।

           

No comments: