Wednesday 26 February 2014

दोस्‍तों के लिए एक दोहा-------------------

ना पाती ना तुम मिले, गए बहुत दिन बीत ।
जीवन कारावास सा, बिना  तुम्‍हारे  मीत ।।

No comments: